बुंदेलखंड में 1000 घंटे: मुर्दा हो चुके क्षेत्रों में नई जान फूकने का प्रयास

बुंदेलखंड का ज़िक्र आता है तो आपको सिर्फ सूखे का ख्याल आता होगा। लेकिन इस महत्वपूर्ण क्षेत्र की असली समस्याएं, चुनौतियां व उपलब्धियां अक्सर सुर्खियों तक नहीं पहुंच पाती। बुंदेलखंड से भारत के इस सबसे बड़े न्यूज़ प्रोजेक्ट में गाँव कनेक्शन टीम अगले कई हफ्तों तक बुंदेलखंड के अलग-अलग हिस्सों में 1,000 घंटे बिताकर आपके लिए वो कहानियां लाएगी जो अब तक कही नहीं गईं। 16. मुर्दा हो चुके क्षेत्रों में नई जान फूकने का प्रयासवर्ष 2000 के बाद से तेरहवां सूखा झेल रहे बुंदेलखंड के जालौन जि़ले में दूर तक फैले नीले रंग के सौर ऊर्जा के पैनल बुंदेलखंड की आशा हैं। क

ब्रिटेन के वोट का असर भारतीय किसानों पर भी होगा

लखनऊ। ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के बाद विभिन्न देशों के अर्थव्यवस्थाओं पर खासा असर पड़ा। भारत के किसानों और व्यापार पर भी इस बदलाव का असर पड़ने की संभावना है। सबसे ज्यादा असर कपास, कॉफी, चाय, फल, सजावटी फूल, बासमती चावल, मसाले और हर्बल दवाओं की खेती करने वाले किसानों पर पड़े

तालाबों के साथ बुंदेलखंड में सूख गया मछली व्यवसाय

महोबा। औसतन एक हेक्टेयर के तालाब से सालभर में एक लाख बीस हज़ार रुपए की मछलियां निकलती हैं। बुंदेलखंड में 50 हज़ार से ज्यादा तालाब हैं। यानी अगर इऩ तालाबों में पानी होता तो कई सौ करोड़ रुपए की मछली उत्पादन बुंदेलखंड में होता और लाखों लोगों को रोज़गार के जरिया मिलता।बुंदेलखंड इलाके में

बड़ी ख़बरें

आम लोगों पर कर, अमीर किसानों को छूट?

ड्रग्स से उड़ता पंजाब, उड़ता यूपी

विश्वविद्यालयों में शिक्षक ही नहीं, छात्र कैसे पढ़ें खेती?

सरकार ने खरीदी 1.11 लाख टन दाल

फोटो गैलेरी

आपका
गाँव कनेक्शन

गाँव कनेक्शन को अपनी कोई तस्वीर, खबर या जानकारी भेजने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

गाँव कनेक्शन मर्चेंडाइस

गाँव कनेक्शन की टी-शर्ट कैप व ऐसी ही अन्य कई वस्तुएं खरीदने के लिए करें क्लिक

मनोरंजन

गाँव की कलाएं, गीत-संगीत, सिनेमा व और भी बहुत कुछ|

  कृषि सुझाव

ताज़ा ख़बर


गॉव मीटर

  • पाठक 15,00,000
    ज़िले 55
    ब्लॉक 150
    गाँव 20,000
  • जी सी   गैलरी
  • पोस्टर कम्पनी
  • रिपोर्टर कोना
  

सबसे अधिक देखी गयी खबरें

संवाद

प्रजातंत्र में भटकता तंत्र

व्यवस्था की सबसे बड़ी व्यथा है कि वह व्यस्थापित नहीं हो पाती, एक तरफ जहां हर ओर शोर-शराबों के बीच जनह

गाँव कनेक्शन